मेरठ में श्मशान फुल:नगर निगम ने अगले दिन चिता की राख उठाने के लिए कहा,

0
20

 मेरठ जनपद प्रदेश के पांच सर्वाधिक संक्रमित जिलों की सूची में शामिल है। यहां साढ़े 11 हजार के करीब एक्टिव केस हैं। कोरोना से मौत की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। कोरोना और सामान्य मौत की संख्या इतनी बढ़ गई ​है कि अब श्मशान में जगह कम पड़ने लगी है। रविवार को शहर के सूरजकुंड श्मशान में 55 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इतनी संख्या में अंतिम संस्कार के लिए श्मशान की जगह भी कम पड़ गई।श्मशान घाटों में दाह संस्कार के लिए जगह कम पड़ने पर भाजपा के वार्ड 58 से पार्षद अंशुल गुप्ता ने नगरायुक्त को पत्र लिखकर दाह संस्कार के लिए अलग जगह की वै​कल्पिक व्यवस्था करने की मांग की है। पार्षद अशुंल गुप्ता ने नगरायुक्त को लिखे पत्र में कहा ​है कि वार्ड 58 के सूरजकुंड शमशान घाट पर दाह संस्कार के लिए अत्यधिक शवों के आने से जगह कम पड़ रही है। दाह संस्कार के लिए शव लेकर पहुंच कर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।पार्षद अंशुल गुप्ता ने यह भी लिखा कि जब तक समस्या का समाधान नहीं होता तब तक श्मशान घाट के बाहर खाली पड़ी पार्किंग में अंतिम संस्कार की वैकल्पिक व्यवस्था कराई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here